उत्तरा न्यूज
अभी अभी देश शिक्षा

शिक्षा मंत्रालय का तोहफा, अब आजीवन मान्य होगा TET सर्टिफिकेट

tet-certificate-will-be-valid-for-lifetime

03 जून 2021

टीईटी (TET)

2011 के बाद से निर्गत हुए टीईटी (TET) प्रमाण पत्र की योग्यता अवधि को अब आजीवन कर दिया गया है। केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने इस बात की जानकारी दी।

निशंक ने बताया कि संबंधित राज्य/केंद्र शासित प्रदेश उन उम्मीदवारों को नए टीईटी (TET) प्रमाण पत्र जारी करने के लिए आवश्यक कार्रवाई करेंगे, जिनके टीईटी (TET) प्रमाणपत्र की 7 वर्ष की वैधता सात वर्ष पहले ही समाप्त हो चुकी है। उन्होंने कहा कि इस फैसले से शिक्षण क्षेत्र में करियर बनाने के इच्छुक उम्मीदवारों को फायदा मिलेगा।

यह भी पढ़े……

Pithoragarh- नगर निकायों को नियमित सफाई अभियान चलाने के निर्देश

शादी से पहले दुल्हन निकली कोरोना पॉजिटिव (Corona), पीपीई किट में हुई शादी

बताते चले कि कि स्कूलों में शिक्षक पात्रता परीक्षा पास किये बिना स्कूलों में शिक्षक के रूप में नियुक्ति नही दी जा सकती है। यह ​प्राईमरी और कक्षा 6 से 10 की कक्षाओं में अध्यापन के लिये आवश्यक योग्यताओं में से एक है।


नई शिक्षा नीति के तहत हुआ बदलाव

बता दें कि शिक्षक पात्रता परीक्षा पद्धति और नियमावली में बदलाव की कवायद लंबे समय से चल रही थी। राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (NCTE) ने शिक्षक पात्रता परीक्षा में बदलाव को लेकर रूपरेखा तैयार करने की जिम्मेदारी संभाल रखी थी।

यह बदलाव नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के नवीन प्रावधानों के तहत किए गए हैं। टीईटी (TET) की परीक्षा सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की बहाली से पहले उनकी अर्हता तय करने के लिए ली जाती है।


नए बदलाव राष्ट्रीय शिक्षा नीति के प्रावधानों के तहत किए जा रहे हैं और इसके साथ ही विभिन्न राज्यों में सीटेट के अलावा आयोजित होने वाली अन्य राज्य स्तरीय टीईटी (TET)
परीक्षाओं में एकरूपता लाने का प्रयास किया जाएगा।

यह भी पढ़े……

Uttarakhand: नवविवाहिता की संदिग्ध मौत, परिजनों ने काटा हंगामा

साथ ही साथ इस मामले में विभिन्न राज्यों से पूर्व में आयोजित शिक्षक पात्रता परीक्षा का पूरा ब्यौरा 15 फरवरी तक मांगा गया था।

इस ब्यौरे में परीक्षा में पूछे गए प्रश्नों के पैटर्न के अलावा परीक्षा में शामिल उम्मीदवारों, सफल उम्मीदवारों आदि की जानकारी निर्धारित रूपरेखा के साथ ही परीक्षा को लेकर समय-समय पर राज्यों द्वारा उठाए गए विभिन्न कदमों या मुद्दों के संबंध में भी जानकारी मांगी गई थी। उसके बाद ही यह फैसला किया गया है।

कृपया हमारे youtube चैनल को सब्सक्राइब करें

https://www.youtube.com/channel/UCq1fYiAdV-MIt14t_l1gBIw

Related posts

Almora- सर्वदलीय महिला संस्था की होली में खलल, महिलाओं ने लगाया सत्ता पक्ष की शह पर व्यवधान डालने का आरोप

Newsdesk Uttranews

अनिवार्य सेवानिवृत्ति को लेकर शिक्षकों में उबाल, जबरन सेवानिवृत्ति पर विरोध करने की दी चेतावनी, मामले को लेकर बुलाई बैठक

Newsdesk Uttranews

corona update- इन राज्यों से उत्तराखंड आने वाले यात्रियों को लानी होगी कोरोना निगेटिव रिपोर्ट

Newsdesk Uttranews